Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, मार्च 18, 2019 | समय 20:03 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

हिन्दुस्थान समाचार का सर्वे : 90 फीसद लोगों ने कहा- एयर स्ट्राइक बिल्कुल सही कदम

By HindusthanSamachar | Publish Date: Mar 2 2019 3:05PM
हिन्दुस्थान समाचार का सर्वे : 90 फीसद लोगों ने कहा- एयर स्ट्राइक बिल्कुल सही कदम

- तीन चौथाई लोगों ने कहा- प्रधानमंत्री जो कहते हैं, करते हैं

- पाकिस्तान के खिलाफ भारत के कड़े रुख से देश आश्वस्त

- लोकसभा चुनाव में आतंकवाद, राष्ट्रीय सुरक्षा, कश्मीर और अनुच्छेद 370 जैसे मुद्दे अहम

नई दिल्ली, 02 मार्च (हि.स.)। पाकिस्तान स्थित आतंकियों को माकूल जवाब देने के लिए पूरा देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ खड़ा है। भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक से लोग खुश हैं। सरकार के निर्णयों पर भी आम जनता ने भरोसा जताया है। इससे लोकसभा चुनाव में आतंकवाद, राष्ट्रीय सुरक्षा, कश्मीर और अनुच्छेद 370 जैसे मुद्दे ऊपर आ गए हैं। फिलहाल महंगाई, नोटबंदी, जीएसटी, महिला सुरक्षा, किसान और शिक्षा जैसे मुद्दे भी हैं परन्तु वे पीछे छूटते नजर आ रहे हैं। इनसे ज्यादा तो विकास के मुद्दे पर लोगों की दिलचस्पी नजर आ रही है। भ्रष्टाचार पर सरकार की कार्रवाई भी मुद्दा बनता नहीं दिखता। हिन्दुस्थान समाचार (बहुभाषी न्यूज एजेंसी) के देशव्यापी सर्वे में ये बातें सामने आयी हैं। 19 राज्यों में हुए इस सर्वे में 2333 लोगों ने हिस्सा लिया।

एक साथ दो घंटे में कराए गए सर्वे में पांच प्रश्नों के उत्तर के लिए चार-चार विकल्प दिए गए। आखिरी (छठवें) प्रश्न में आगामी लोकसभा चुनाव में बनने वाले मुद्दे पर उत्तर मांगा गया। लोगों से क्रमशः प्रश्न किए गए, भारतीय वायुसेना की इस कार्रवाई पर आपकी प्रतिक्रिया क्‍या है?, क्‍या इससे पुलवामा हमले का बदला पूरा हुआ? क्या इससे आतंकवादी गतिविधियों पर लगाम लग सकेगी?, भारत सरकार की इस कार्रवाई का क्या आप समर्थन करते हैं? क्‍या आप समझते हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जैसा कहा, वैसा किया? इन सबके जवाब को नमूना सर्वे मानें तो देश की ज्यादातर जनता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार के साथ ही उनके किए गए फैसलों के पक्ष में खड़ी नजर आयी।

इस सर्वे में 90 प्रतिशत लोगों ने पहले प्रश्न के जवाब में केंद्र सरकार के सामरिक फैसले वायुसेना की एयर स्ट्राइक को 'बहुत अच्छा' कदम बताया। साथ ही पांचवें प्रश्न के उत्तर में भी तीन चौथाई लोगों ने राय दी, 'प्रधानमंत्री ने जैसा कहा, वैसा किया।' इस सर्वे में सभी वर्ग के लोगों को शामिल किया गया। 19 राज्यों में असम और छत्‍तीसगढ़ को छोड़कर अधिकांश लोगों ने लगभग एक जैसे जवाब दिए। असम और छत्तीसगढ़ के लोगों ने आगामी लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय मुद्दों के साथ स्‍थानीय मुद्दों को भी तरजीह दी।

लोकसभा चुनाव में सबसे बड़े मुद्दे पर अधिकांश लोगों की राय है कि मोदी सरकार को घेरने वाले नोटबंदी और जीएसटी जैसे मुद्दों का अब कोई मतलब नहीं रह गया है। आज चुनाव का सबसे बड़ा मुद्दा सशक्‍त भारत है। इसमें दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ मोदी सरकार के आतंकवाद के खिलाफ उठाए जा रहे कदम भी शामिल हैं। इस सर्वे का निचोड़ यह भी है कि वो तमाम मुद्दे नेपथ्‍य में चले गए हैं, जिनका अब तक संसद से सड़क तक शोर मचता रहा है।

'हिन्‍दुस्‍थान समाचार' का यह सर्वे देश की 97.85 करोड़ की कुल आबादी के बीच किया गया । इसमें 19 राज्यों ने हिस्सा लिया। देश के सबसे बड़े आबादी वाले राज्‍य उत्‍तर प्रदेश और मध्‍य प्रदेश के अलावा असम, बिहार, छत्‍तीसगढ़, दिल्‍ली, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, झारखंड, मेघालय, महाराष्‍ट्र, ओडिशा, पंजाब, राजस्‍थान, सिक्किम, तेलंगाना, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल और गुजरात हैं।

सर्वे का निष्कर्ष

देशव्यापी सर्वे के पहले प्रश्न, 'भारतीय वायुसेना की कार्रवाई पर आपकी प्रतिक्रिया क्या है?' पर लगभग पूरा देश सेना के साथ और राष्ट्रभक्ति के रंग में नजर आया। इस कार्रवाई को 89.28 प्रतिशत लोगों ने 'बहुत अच्छा', 8.57 प्रतिशत लोगों ने 'अच्छा' और 1.92 प्रतिशत ने 'सामान्य' कहा। इस प्रश्न पर 0.21 प्रतिशत लोगों ने कोई टिप्पणी नहीं की।

सर्वे का दूसरा प्रश्न इसी से जुड़ा हुआ है। इसमें पूछा गया कि 'क्या इससे पुलवामा हमले का बदला पूरा हुआ?' लोग बदले की भावना से इसे नहीं देख रहे। बदले की कार्रवाई पर 41.49 प्रतिशत लोगों की प्रतिक्रिया 'आंशिक' रही। 26.78 प्रतिशत लोगों ने इसे 'हमले का बदला पूरा' हुआ बताया। 32.36 प्रतिशत लोगों का मानना है कि अभी बदला पूरा नहीं हुआ। 1.07 प्रतिशत ने कहा, 'पता नहीं'।

तीसरे प्रश्न में लोगों से पूछा गया कि 'क्या इससे आतंकी गतिविधियों पर लगाम लग सकेगी?' 38.70 प्रतिशत लोगों ने माना 'हां'। 29.53 को ऐसा 'नहीं' लगता। 24.94 प्रतिशत लोगों का कहना है कि 'थोड़ा-बहुत'। 6.60 प्रतिशत लोगों की राय है कि इस बारे में अभी 'कुछ कहा नहीं जा सकता।'

चौथे प्रश्न में पूछा गया कि 'भारत सरकार की इस कार्रवाई का क्या आप समर्थन करते हैं?' इस प्रश्न का जवाब 'जय हिंद की सेना' जैसा है। सर्वे में शामिल 96.22 प्रतिशत लोगों ने एक स्वर से कहा, 'हां', हम भारत सरकार के साथ हैं।

सर्वे में शामिल पांचवें सवाल के जवाब में लगभग तीन चौथाई लोगों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 'जैसा कहा वैसा किया।' सवाल पूछा गया कि 'क्या आप समझते हैं कि प्रधानमंत्री ने जैसा कहा, वैसा किया?' इस पर 69.35 प्रतिशत लोगों का जवाब 'हां', 15.21 प्रतिशत लोगों ने कहा, 'कुछ हद तक', 13.75 प्रतिशत लोगों ने कहा, 'नहीं' और 1.67 प्रतिशत लोगों ने कहा, 'पता नहीं'।

मतदाताओं की नब्ज

इस सर्वे में छठे और आखिरी सवाल के जरिये मतदाताओं की नब्ज टटोलने की कोशिश की गई। आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर उनसे पूछा गया कि निर्णायक मुद्दा क्या होगा?

इसके जवाब में 90 फीसदी से ज्यादा लोगों की नजर में आतंकवाद, राष्ट्रीय सुरक्षा, कश्मीर और अनुच्छेद 370 ही चुनाव में निर्णायक मुद्दा होगा।

इसके बाद सबसे ज्यादा लोगों को लग रहा है कि विकास और रोजगार के मुद्दे पर ही यह चुनाव केंद्रित होगा। महंगाई, जीएसटी, नोटबंदी, शिक्षा, महिला सुरक्षा, भ्रष्टाचार, किसान और मजबूत सरकार जैसे मुद्दों को कुछ प्रतिशत लोगों ने ही जरूरी बताया।

हिन्दुस्थान समाचार

लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image